Oh My God, Your Education Minister, Can’t Believe It !

Posted on: Sat, 10/31/2020 - 07:36 By: admin

“मैं अगर आपको कहूँ कि उस दूसरे कमरे में जाकर जेंटलमैन को बुला लाइये, अगर वहाँ तीन लोग खड़े हो, जिसमें से किसी एक ने सूट और टाइ पहन रखा हो तो आप सूट वाले को बुला लाएँगे। ये कैसे होता है, कब हमने जेंटलमैन की परिभाषा गढ़ दी”

महिलाओं की आर्थिक समृद्धि और सुरक्षा की ओर बढ़ता कदम।

Posted on: Sat, 10/31/2020 - 07:34 By: admin

आज से करीब-करीब 15 साल पहले कल्याणी और मैं मुनिरका में रहकर पढ़ाई करते थे। कल्याणी को हर रोज करीब 3 किलोमीटर दूर मोतीलाल नेहरू कॉलेज जाना होता था। बस में 2 रुपये का टिकट लगता था । वो अक्सर जाने और आने का 4 रुपया बचाने के लिए पैदल ही चली जाती थी। कई बार एक स्टॉप आगे बढ़ जाने से टिकट 7 रुपये का हो जाता था तो हम अपने गंतव्य से एक स्टॉप पीछे ही उतर जाते थे। किसान परिवार की कोई मासिक आय नही होती थी, आज भी नही होती है। ऐसे में नियमित मासिक खर्च बहुत महंगी पड़ती थी।

सरकारी स्कूलों के प्रति अभिभावकों का विश्वास।

Posted on: Sat, 10/31/2020 - 07:33 By: admin
  1. ये लो सिर्फ संस्कृत और ड्राइंग में तुम पास हो, कहते हुए मैम बच्चे के हाथ में पीले कलर का रिपोर्ट कार्ड पकड़ाती है। बच्चा खड़ा है, थोड़ी सी उदासी उसके चेहरे पे झलक रही है। सामने मम्मी अपने दो और बच्चों के साथ बैठी हुई है।
    मम्मी से यहां साइन करवा लो, यह कहते हुए टीचर एक अटेंडेंस सीट बच्चे के हाथ में पकड़ा देती हैं। मम्मी पेन पकड़कर जैसे- तैसे साइन करने की कोशिश करती है।

थोड़ा ध्यान दीजिए आप इस पर, घर पे कुछ पढ़ता नहीं है

जी मैम आगे से मैं ध्यान रखूंगी।

मजबूत सरकारी स्कूल व्यवस्था के गवाह हैं, सिंगापुर के स्कूल।#3

Posted on: Sat, 10/31/2020 - 07:24 By: admin

आज का दिन था सिंगापुर के स्कूलों को देखने का l यकीन नहीं होता है कि इतने कम समय में कोई देश अपने यहां के स्कूलों को इतना बेहतरीन कैसे बना सकता है l कोई बहुत गौरवपूर्ण इतिहास नहीं रहा है सिंगापुर का। बहुत ही मुश्किलों का सामना यहाँ के लोगों ने किया। काफी सालों तक अंग्रेजों का राज रहा। द्वितीय विश्व युद्ध के समय कुछ वर्षों तक जापानी साम्राज्य का हिस्सा रहा और फिर कुछ वर्षों तक मलेशिया का हिस्सा रहा। और अंत में 1965 में स्वतंत्र सिंगापुर के रूप में इस राष्ट्र की स्थापना हुई। एक बुजुर्ग बता रहे थे कि यहाँ के स्कूलों में 4-4 अलग-अलग तरह के राष्ट्रगान गाये गए हैं।

A school Teacher’s Singapore Diary#2

Posted on: Sat, 10/31/2020 - 07:17 By: admin

शिक्षा से जुड़े हुए साहित्य को जब भी हम पढ़ते हैं तो पाते हैं कि शिक्षक के लिए कोई खास उत्साह समाज मे कभी नहीं रहा है। आज भी बहुत कुछ नहीं बदल गया है। कितने लोगों को आप अपने आसपास जानते हैं जो शिक्षक बनना चाहते हैं या अपने बच्चों(बेटों) को शिक्षक बनाना चाहते हैं। हालात यहाँ तक आ गयें है कि जो लड़के इस पेशे में हैं उनकी आसानी से शादी नहीं हो रही है।

It’s not just a school building

Posted on: Sat, 10/31/2020 - 07:13 By: admin

Ranjeet ji – A teacher in the government school of Delhi is planning a city tour for some of his esteemed guests. This time, he has included his school as one of the places where he wants his esteemed guests to visit along with other tourist attractions of Delhi. He is very much excited and is explaining the story of the turn around of the Delhi government schools to his guests. He doesn’t forget to show the newly built swimming pool, multipurpose hall with centralised cooling system along with the upgraded classrooms and labs to his guests.

मजबूत लोकतंत्र या मजबूत सरकार

Posted on: Sat, 10/31/2020 - 07:11 By: admin

यह एक ऐतिहासिक तस्वीर है। आज इस तस्वीर को लेकर मीडिया में काफी चर्चा है। इस तस्वीर को मैं भारत के उन सपनों के तस्वीर से जोड़कर देखता हूं जिसका सपना गांधीजी देखा करते थे और जिसका सपना उस समय भारत को स्वतंत्र करवाने के लिए लड़ रहे हजारों स्वतंत्रता सेनानियों ने देखा था । अंग्रेज के हाथों में केंद्रीकृत सत्ता का लगातार भारत के स्वाधीनता संग्राम के दौरान विरोध किया गया और इस विरोध के स्वर में सभी पार्टियां एकमत थी। प्रांतीय स्वायत्तता की कल्पना भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा रहा जहाँ हर सूबे की अपनी सरकार होगी और उन सरकारों के पास बहुत सारे फैसले लेने क

Subscribe to